कर्मचारी भविष्य निधि संगठन
श्रम और रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार,
अहमदाबाद, गुजरात
व्याप्त‍ि
 
घर व्याप्त‍ि

कर्मचारी :

 

कर्मचारी से तात्पर्य है – कोई भी व्यक्ति, जो मजदूरी के लिए (किसी स्थापना) में या उससे संबंधित कार्य के लिए नियोजित हो, तथा जो नियोक्ता से सीधे या अन्य किसी माध्यम से अपनी मजदूरी प्राप्त करता हो; (तथा इसमें वे व्यक्ति, जो;)

 

 

  1. स्थापना में या उससे संबंधित कार्य के लिए किसी ठेकेदार के द्वारा या ठेकेदार के माध्यम से नियोजित हो;

 

 

  1. लगाए गयें प्रशिक्षु (अप्रेंटिस), जो अप्रेंटिस अधिनियम, 1961 (1961 का 52वां अधिनियम) के अंतर्गत या स्थापना में स्थायी आदेशों के तहत लगाए गये प्रशिक्षु नही है; भी शामिल है।;

 

नवीन प्रवेशकों के लिए

 

  1. नामांकन: एक कर्मचारी, जिस दिन व्याप्त स्थापना में पदभार ग्रहण करता है, उस दिन से सदस्यता के लिए पात्र होगा।

 

  1. यदि कर्मचारी की परिलब्धि प्रतिमाह रू. 6500/- से अधिक हो तब उसके पास नियोक्ता की सहमति से योजना/योजनाए में शामिल होने का विकल्प होगा।

 

  1. पिछले रोजगार विवरण, यदि हो, तो उनकी घोषणा प्रपत्र-11 के माध्यम से नियोक्ता को की जायेगी।

 

  1. योजना का सदस्य बनने पर (परिवार की जानकारी/नामांकन) प्रपत्र -2 में भरकर, नियोक्ता के माध्यम से दर्ज करवाया जाय।

 

  1. सदस्य द्वारा परिलब्धि का 12% की दर से अंशदान का भुगतान किया जायेगा।

 

  1. एक सदस्य द्वारा सांवधिक रूप से, विहित दर से अधिक का अंशदान दिया जा सकता है।

मौजूदा सदस्यों के लिए

 

  1. नामांकन :

 

  1. पारिवारिक स्थिति में कोई परिवर्तन जैसे :

 

 

  • सदस्य/सदस्यों का विवाह
  • परिवार में वृद्धि/कमी
  • विधिक रूप से बच्चों को गोद लेना
  • नामांकित में परिवर्तन को प्रपत्र- 2 में भरकर नियोक्ता के माध्यम से दायर करना चाहिए।

 

  1. सदस्य द्वारा योजना प्रमाणपत्र (क.पे.यो. 95) रखने की स्थिति में, उसे नियोक्ता के माध्यम से इसे संबंधित क.भ.न.स. कार्यालय में जमा करवाना चाहिये।

 

  1. एक सदस्य निकासी, अग्रिम, पेंशन, मृत्यु बीमा आदि, विभिन्न लाभों और सुविधाओं का पात्र है।